Revenue Collection

राज्य में खनन राजस्व प्राप्ति का मुख्य श्रोत खनिजों से प्राप्त स्वामिस्व, खनन पट्टों की स्वीकृति भण्डारण अनुज्ञप्ति की नवीकरण हेतु जमा किये गये शुल्क, पूर्वेक्षण अनुज्ञप्ति, आवेदन शुल्क, नियत लगान एवं भूतल लगान है. वित्तीय वर्ष 2015-16 एवं वर्ष 2016-17 में विभिन्न प्रमुख खनिजों से निम्न प्रकार खनन राजस्व प्राप्त हुआ है -

आँकड़ा लाख रू. में

2015-16

(माह मार्च, 2016 तक)

2016-17

(माह मार्च 2017 तक)

वृहत खनिज
चूना पत्थर, अभ्रक, सिलिका सैंड, सोपस्टोन   99.06 57.47
लघु खनिज
ईंट 4,295.60 3,639.87
बालू 42,806.32 45,765.23
पत्थर/क्रशर 11,097.89 11,140.61
मोरम 56.38 0.00
मिट्टी 271.37 833.42
कार्य विभाग 36,413.51 35,999.84
ट्रांजिट पास 40.74 25.16
दण्ड/अन्य 626.23 1,564.86
बकाया
निलामपत्र + अनिलामपत्र 1,392.90 383.73
कुल योग 97,100.00 99,410.19

विगत पाँच वर्षों में खनन राजस्व की प्राप्ति निम्न प्रकार रही -

In Crores of Rupees

Govt. of Bihar

Department of Mines & Geology

REVENUE COLLECTION

Year Target Collection Percentage
2012-13 470.00 499.27 106.23
2013-14 641.00 569.00 88.77
2014-15 750.00 859.34 114.58
2015-16 1,000.00 971.00 97.10
2016-17 1,100.00 994.90 90.37

(*Collection figure till March, 2017)